2024 में पीएचडी करने के फायदे | PHD Karne Ke Fayde

Rate this post

पीएचडी एजुकेशन की सबसे सर्वश्रेष्ठ डिग्री है। यदि पीएचडी आप करने का विचार कर रहे हैं तो PHD Karne Ke Fayde के बारे में आपको पता होना चाहिए। क्योंकि PhD करने में आप अपना गोल्डन समय के साथ पैसे भी खर्च करते हैं इसलिए पीएचडी करने के फायदे क्या है यह जानना जरूरी है।

PHD Karne Ke Fayde
PHD Karne Ke Fayde

इस पोस्ट के माध्यम से हमने PhD कोर्स से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे: PhD क्या होता है, PhD Kitne Saal Ka Hota Hai, PhD Ki Fees Kitni Hai और सबसे जरुरी प्रश्न PhD Karne Ke Fayde क्या है। इन सबसे के बारे में कोई इस पोस्ट के माद्यम से विस्तार से जानने को मिलेगा तो पोस्ट के साथ बने रहे।

Contents

पीएचडी कोर्स संक्षिप्त विवरण | PhD Course Details in Hindi

पोस्ट का टाइटल पीएचडी करने के फायदे
उपाधिडॉक्टर
कोर्स की अवधि3 से 6 साल
पीएचडी का फुल फॉर्मडॉक्टर ऑफ फिलॉसफी
PhD की फीसकोर्स के अनुसार (₹15000- ₹50000 सालाना)
योग्यतामास्टर डिग्री का काम से कम 55% अंक
PhD के बाद सैलरीऔसतन ₹50000- ₹140000 महीना
PhD पीएचडी के बाद नौकरीअसिस्टेंट प्रोफेसर, असिस्टेंट रिसर्च कानूनी सहायक
लेखक, वरिष्ठ सलाहकार, रिसर्च एसोसिएट, सहायक प्रोफेसर, अनुसंधान सलाहकार, अर्थशास्त्री, इतिहासकार

पीएचडी क्या होता है? | PhD Kya Hota Hai

काफी यो को विद्यार्थियों को PhD क्या होता है इसके बारे में पता नहीं होता है। पीएचडी का पूरा नाम डॉक्टर आफ फिलासफी है यह एजुकेशन क्षेत्र का सर्वश्रेष्ठ डिग्री माना जाता है। सामान्य तौर पर पीएचडी की अवधि 3 से 6 साल की होती है और जब आप इस कोर्स को पूरा कर लेते हैं तो आपको नाम के आगे डॉक्टर की उपाधि लग जाती है।

वर्तमान समय में भारत के अंदर एजुकेशन सेक्टर में PhD से बढ़कर कोई और दूसरा कोर्स नहीं है। जब आप किसी एक विषय में पीएचडी कर लेते हैं तो भारत के किसी भी यूनिवर्सिटी, विश्वविद्यालय में प्रोफेसर की नौकरी कर सकते हैं।

यूनिवर्सिटी प्रोफेसर का जॉब प्रोफाइल सबसे बेहतरीन माना जाता है। प्रोफेसर बनने के बाद आप केवल कुछ घंटे का लेक्चर देकर लाखो रुपए महीना कमा सकते हैं।

PhD कोर्स करने के बाद असिस्टेंट प्रोफेसर, रिसर्चर, सहायक प्रोफेसर, अनुसंधान सलाहकार, और लेक्चरर के रूप में अच्छी खासी नौकरी कर सकते हैं।

पीएचडी का फुल फॉर्म क्या होता है? | PhD Ka Full Form in Hindi

पीएचडी का Full Form डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी’ होता है। एजुकेशन क्षेत्र का यह सबसे प्रसिद्ध और उच्चतम डिग्री होती है। इस कोर्स को करने के बाद आपके डॉक्टर के आगे ली जाती है। क्योंकि आप जिस विषय में पीएचडी करते हुए इस विषय की प्रॉपर नॉलेज हो जाती है इसके बाद आप समान्य लोगो से अलग हो जाते है।

पीएचडी करने के फायदे | PhD Karne Ke Fayde

पीएचडी करने के केवल एक नहीं बल्कि कोई फायदे हैं। यदि आप पीएचडी कोर्स करना चाहते हैं तो PhD Karne Ke Fayde के बारे में जरूर जाना चाहिए। नीचे हमने डिटेल में पीएचडी के फायदे के बारे में बता दिया है में आशा करता हूं कि इससे आपको मदद जरूर मिलेगी।

  • जिस विषय में आप पीएचडी करते हैं उसे विषय का आपको पूरी जानकारी दी जाती है जैसे मान लेते हैं आप इतिहास में पीएचडी करती है तो इतिहास विषय का आप एक्सपर्ट करेंगे

  • PhD कोर्स के दौरान आप कई तरह के रिसर्च कार्य करते है यह कोर्स का ही पार्ट होता है। यदि आप कोई विशेष रिसर्च करते है या कोई थ्योरी देते है तो अधिक संभावना है कि आपका रिसर्च या थ्योरी इंटरनेशनल न्यूज़ पेपर में आ सकती है

  • PhD की डिग्री केवल भारत में ही नहीं बल्कि विदेश में भी मान्य है इसका मतलब है कि आप भारत के बाहर भी अधिक सैलरी में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

  • PhD कोर्स भारत का सर्वश्रेष्ठ कोर्स माना जाता है इसको करने के बाद आपका नाम के आगे डॉक्टर की उपाधि लग जाती है। इसके बाद आपको सम्मान की नजर से देखा जाएगा।

  • पीएचडी करने के के बाद अंतरराष्ट्रीय या राष्ट्रीय कॉलेज में प्रोफेसर, असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर नौकरी लग जाती है

  • यदि आप NET या GATE एंट्रेंस एग्जाम को पास कर लेते हैं तो PhD कोर्स करने के दौरान अच्छा खासा स्कॉलरशिप दिया जाता है तो PhD Karne Ke Fayde होगा ही।

  • यदि आपकी फाइनेंशियल कंडीशन अच्छी नहीं है लेकिन आप PhD कर लेते हैं तो काफी अधिक सैलरी मिलती है उसके बाद आपकी फाइनेंसियल कंडीशन भी बेहतर हो जाएगी

  • इस कोर्स को करने के बाद आपकी सोचने और निर्णय लेने की क्षमता काफी बेहतर हो जाती है जिससे आपका व्यक्तिगत विकास होगा और यह स्किल आपको लाइफ में काफी आगे ले जाएगा।

  • इतने बड़े को उसको करने के बाद आपका आत्मसम्मान काफी अधिक बढ़ जाएगा आपका बड़ा हुआ आत्मसम्मान आपको हर फील्ड में सफलता दिलाने में काफी मदद करेगा।

  • PhD करने के बाद आप एक रिसर्चर भी बन जाते हैं उसके बाद आप अपने खुद का खोज या अपनी किताब भी लिख सकते हैं

यह भी पढ़े: ANM Course फ़ीस, सिलेबस, जॉब, सैलरी पूरी जानकारी

PhD करने के लिए योग्यता | PhD Karne Ke Liye Qualification

जैसा कि आपको पता चल ही गया होगा की पीएचडी एजुकेशन सेक्टर का सर्वश्रेष्ठ डिग्री है। इसलिए यदि आप इस कोर्स को करना चाहते हैं तो आपको अपनी योग्यता प्रमाणित करना करनी होगी।

PhD करने के लिए योग्यता निम्नलिखित है:-

  • पीएचडी करने के लिए सबसे पहले आपको मास्टर डिग्री अर्थात पोस्ट ग्रेजुएशन करना होगा।
  • जिस विषय में अपने पोस्ट ग्रेजुएट और ग्रेजुएशन किया हुआ है केवल इस विषय में PhD कर सकते हैं।
  • पीएचडी करने के लिए ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में आपका काम से कम 55% अंक होने चाहिए।
  • PhD कोर्स करने के लिए एंट्रेंस एग्जाम JRF और SRF को पास करना होगा तभी जाकर आपको अपने पसंदीदा कॉलेज में एडमिशन मिलेगा।
  • केवल भारत का स्थाई नागरिक ही पीएचडी कोर्स करने के योग्य है।
  • PhD करने के लिए कोई भी आयु सीमा निश्चित नहीं की गई है आप अपनी अच्छा अनुसार कभी भी PhD कर सकते हैं।

PhD कौन-कौन से विषय में होते है?

वैसे तो पीएचडी कई विषय में होती है लेकिन आप केवल इस विषय में पीएचडी कर सकते हैं। जिस विषय में अपने ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन किया हुआ होगा। इसलिए आप 12वीं में ही यह निर्धारित कर लीजिए कि आप किस विषय के प्रोफेसर बनना चाहते हैं। उसके बाद उसी अनुसार ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में अपना विशेष चुने।

PHD Karne Ke Fayde

भारत में पीएचडी कौन-कौन से विषय में कराई जाती है इसकी पूरी लिस्ट हमने नीचे दी है। आप अपनी इच्छा अनुसार कोई एक विशेष चुनकर उसे सब्जेक्ट हमारा में महारत हासिल कर लीजिए। इसके बाद आपको बेहतर भविष्य बनाने में कोई नहीं रोक सकता।

भूगोलअर्थशास्त्र
इतिहासजीव विज्ञान
समाज विज्ञानविज्ञान
व्यवसायकला
सामाजिक विज्ञानशास्त्री संस्कृत
शान विज्ञानसंगीत
जनसंख्या विज्ञानप्राकृति संसाधन
संचार विज्ञानभाषा विज्ञान

PhD कितने साल का कोर्स है | PhD Kitne Saal Ka Hota Hai

पीएचडी कितने साल का होता है? यह सवाल सबसे अधिक पूछा जाता है। आमतौर पर पीएचडी की अवधि 3 से 6 साल की होती है यह विद्यार्थियों के ऊपर निर्भर करता है कि वह पीएचडी को 3 साल में खत्म कर लेते हैं या फिर 6 साल PhD करते हैं।

पीएचडी में केवल थ्योरी ही नहीं पढ़ाया जाता है बल्कि इसमें रिसर्च और प्रैक्टिकल भी काफी अधिक होते हैं। यही कारण है कि विद्यार्थियों को पीएचडी करने में 6 साल का समय लग जाता है।

क्या में पीएचडी 2 साल में कर सकता हूं?

कई लोगों को लगता है कि वह पीएचडी 2 साल में कर सकते हैं लेकिन यह संभव नहीं है। आपको पीएचडी करने में कम से कम 3 साल का समय देना होगा। क्योंकि इस कोर्स के दौरान आपको काफी ज्यादा समय अपने रिसर्च कार्य में देना होगा।

लेकिन केवल गिने चुने ऐसे विद्यार्थी होते हैं जो PhD 2 साल में ही खत्म कर लेते हैं। यदि आप उन विशेष विद्यार्थियों में से एक है तो संभावना है कि आप भी PhD 2 साल में ही कर लेंगे।

पीएचडी की फीस कितनी होती है? | PhD Ki Fees Kitni Hoti Hai

यदि आप पीएचडी करना चाहते हैं तो आपको PhD Ki Fees Kitni Hoti Hai इसके बारे में पता होना चाहिए। पीएचडी की फीस आपके कॉलेज और आपके विषय पर निर्भर करती है। यदि आप किसी सरकारी कॉलेज से पीएचडी करते हैं तो आपकी फीस ₹20000 से ₹30000 प्रति साल होगी।

लेकिन वही यदि आप किसी प्राइवेट कॉलेज या विदेश में जाकर पीएचडी करना चाहते हैं तो आपकी औसत फीस ₹100000 से ₹500000 प्रति साल या फिर इसे भी ज्यादा हो सकती है।

यह भी पढ़े: डी फार्मा करने के बाद गवर्नमेंट जॉब

PhD करने के लिए भारत के सर्वश्रेष्ठ कॉलेज की लिस्ट?

यदि आप भविष्य में PhD करना चाहते हैं तो यहां पर हमने भारत के 10 सर्वश्रेष्ठ कॉलेज की लिस्ट दी है। यदि आप इन कॉलेज से PhD करते हैं। तो आपकी फीस भी काफी कम लगेगी और इन कॉलेज से पीएचडी करने पर मान्यता भी काफी अधिक रहेगी।

S. NO.Colleges
1.इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बॉम्बे
2.इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर
3.इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, कानपुर
4.इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस, बैंगलोर
5.इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, दिल्ली
6.इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मद्रास
7.इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रुड़की
8.इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, गुवाहाटी
9.जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
10.जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, बेंगलुरु

पीएचडी में स्कॉलरशिप कितनी मिलती है?

जी हां दोस्तों पीएचडी कोर्स के दौरान आपको स्कॉलरशिप भी मिलती है। इसके बारे में बहुत कम लोगों को पता होता है। लेकिन पीएचडी में स्कॉलरशिप प्राप्त करने के लिए प्रवेश परीक्षा जेआरएफ और एसआरएफ दोनों में से किसी एक परीक्षा को पास करना होगा।

यदि आप जेआरएफ परीक्षा को पास कर लेते हैं तो 37,000/- रुपये प्रति माह स्कॉलरशिप दी जाएगी और वही एसआरएफ परीक्षा को पास करने के बाद 42,000/- हजार रुपये प्रति माह स्कॉलरशिप दी जाती है।

पीएचडी के बाद क्या करें | PhD Ke Baad Kya Kare

दोस्तों पीएचडी करने के बाद केवल एक रास्ते नहीं बल्कि आपके पास कई विकल्प मौजूद होते हैं। यहां पर मैंने कुछ ऐसे क्षेत्र बताए हैं जो आप अपनी रुचि के अनुसार PhD Ke Baad Kya Kare चुन सकते हैं और उसे फील्ड में अपना सुनहरा भविष्य बना सकते हैं।

अकैडमिक कैरियर: PhD करने के बाद आप शिक्षक के रूप में अपना कैरियर बना सकते हैं। जब आप एक प्रोफेसर बन जाते हैं तो आपका जीवन काफी आरामदायक हो जाएगा क्योंकि प्रोफेसर का जो प्रोफाइल काफी बढ़िया होता है।

व्यापार: PhD करने के बाद आपकी सोचने और निर्णय लेने की क्षमता काफी बढ़िया हो जाती है। तो यदि आपका मन व्यापार करने का है तो आप व्यापार भी कर सकते हैं।

अनुसंधान: PhD करने के बाद आप अपने खुद का रिसर्च या बुक प्रकाशित कर सकते हैं। इस फील्ड में यदि आप कोई आविष्कार कर लेते हैं तो आपका नाम इतिहास में जुड़ जाएगा।

कॉरपोरेट सेक्टर: बहुत सारे लोग PhD करने के बाद कॉरपोरेट सेक्टर में काफी ऊंचे पदों पर काम करते हैं। कॉर्पोरेट में पीएचडी वाले लोगों को काफी अच्छा खासा वेतन मिलता है।

सरकारी नौकरी: यदि आपका मन सरकारी नौकरी करने का है तो आप PhD करने के बाद सरकारी नौकरी कर सकते हैं सरकारी नौकरी का भी रास्ता आपके लिए खुला रहेगा।

पीएचडी करने के बाद कौन सी नौकरी मिलती है?

PhD करने के बाद आप केवल एक फील्ड में नहीं बल्कि कई फील्ड में मारा हासिल कर सकते हैं। पीएचडी करने के बाद कौन-कौन से फील्ड में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं इसकी पूरी जानकारी हमने आपके साथ शेयर की है:-

पेशाकार्य क्षेत्र
असिस्टेंट प्रोफेसरशैक्षिक संस्थान
कंसल्टेंटविशेषज्ञ सलाहकार
रिसर्च असिस्टेंटअनुसंधान संस्था
रिसर्च साइंटिस्टवैज्ञानिक संस्था
कम्प्यूटर इंजीनियरटेक्नोलॉजी कंपनी
कानूनी सहायककानूनी कार्यालय
एसोसिएट प्रोफेसरशैक्षिक संस्थान
प्रोफेसरविश्वविद्यालय
सलाहकारवित्तीय संस्था
वरिष्ठ लेखकपत्रकारिता
वैज्ञानिक लेखकवैज्ञानिक पत्रिका
अनुसंधान सहायकअनुसंधान संस्था
मुख्य अनुसंधान प्रबंधकअनुसंधान संस्था
व्याख्याताशैक्षिक संस्थान
वरिष्ठ सलाहकारनिजी सलाहकार
रिसर्च एसोसिएटअनुसंधान संस्था
सहायक प्रोफेसरशैक्षिक संस्थान
शोध वैज्ञानिकअनुसंधान संस्था
रसायन अनुसंधानकर्ताअनुसंधान संस्था
कनिष्ठ वैज्ञानिकअनुसंधान संस्था
फोरेंसिक केमिस्टन्यायिक प्रणाली
मेडिकल टेक्नोलॉजिस्टचिकित्सा संस्थान
कॉर्पोरेट वकीलकॉर्पोरेट कानूनी कार्यालय
वित्तीय प्रबंधकवित्तीय संस्थान
अर्थशास्त्रीअर्थशास्त्री संस्थान
इतिहासकारइतिहास संस्थान
वकीलन्यायिक कार्यालय

पीएचडी करने के बाद सैलरी | PhD Karne Ke Baad Kitni Salary Milti Hai

बहुत सारे लोगों का सवाल रहता है कि आखिर हम इतना बड़ा कोर्स कर लेंगे तब इसके बाद हमें कितनी सैलरी मिलेगी पीएचडी करने के बाद सैलरी कितनी मिलती है। इसके बारे में हमने नीचे डिटेल में बताया है आप अपने प्रोफेशन के अनुसार सैलरी देख सकते हैं।

  1. अकादमिक (प्रोफेसर) – 80,000 – 1,50,000 रुपये
  2. सांविधिक (रिसर्च साइंटिस्ट) – 60,000 – 1,20,000 रुपये
  3. डिजाइन (डिजाइनर) – 50,000 – 1,00,000 रुपये
  4. प्रौद्योगिकी (इंजीनियर) – 70,000 – 1,30,000 रुपये
  5. आर्थिक (वित्त विश्लेषक) – 60,000 – 1,20,000 रुपये
  6. चिकित्सा (डॉक्टर) – 1,00,000 – 2,00,000 रुपये
  7. खोज (साइंटिस्ट) – 70,000 – 1,40,000 रुपये
  8. अनुवाद (लेक्चरर) – 50,000 – 1,00,000 रुपये
  9. विपणन (मार्केटिंग एक्सपर्ट) – 60,000 – 1,20,000 रुपये
  10. समाजशास्त्र (समाजशास्त्री) – 50,000 – 1,00,000 रुपये
  11. समाचार-पत्रिका (संपादक) – 70,000 – 1,30,000 रुपये
  12. वित्तीय संस्थान (बैंकिंग पेशेवर) – 80,000 – 1,50,000 रुपये
  13. अनुसंधान (अनुसंधान अधिकारी) – 60,000 – 1,20,000 रुपये
  14. संगठनात्मक (संगठनात्मक प्रबंधक) – 70,000 – 1,30,000 रुपये
  15. ग्राहकों की सेवा (सम्मानित उपभोक्ता परामर्शक) – 50,000 – 1,00,000 रुपये
  16. शिक्षा (प्रिंसिपल) – 80,000 – 1,50,000 रुपये
  17. राजनीति (राजनीतिज्ञ) – 70,000 – 1,40,000 रुपये
  18. तकनीक (सीनियर अभियंता) – 80,000 – 1,50,000 रुपये
  19. स्वास्थ्य देखभाल (हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर) – 1,00,000 – 2,00,000 रुपये
  20. खेल (खेलकूद प्रशासक) – 60,000 – 1,20,000 रुपये

निष्कर्ष

दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से हमने PhD कोर्स के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। यदि आप अपना करियर PhD करने के बाद बनाना चाहते हैं। तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़िए क्योंकि इस पोस्ट के माध्यम से आपको काफी जानकारी मिलेगी।

मुझे उम्मीद है कि आर्टिकल को पढ़कर आपको PhD kya hota hai, पीएचडी करने के फायदे (PhD Karne Ke Fayde), पीएचडी करने के लिए योग्यता और फीस के बारे में पता चल गया होगा। यदि आपका कोई भी प्रश्न हो तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं।

इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिए जो पीएचडी करना चाहते हैं ताकि उन्हें उनके सारे सवालों के जवाब एक ही जगह मिल जाए, धन्यवाद!

PhD Karne Ke Fayde से संबंधित प्रश्न: FAQs

प्रश्न: पीएचडी करने में कितना खर्च आता है?

यदि आप किसी सरकारी कॉलेज से PhD करते हैं तो आपकी 1 साल की फीस ₹15000 से ₹30000 होगी वही किसी प्राइवेट कॉलेज से PhD करने में औसत फीस ₹100000 से ₹500000 प्रति साल हो सकती है।

प्रश्न: पीएचडी कौन से स्टूडेंट कर सकते हैं?

पीएचडी करने के लिए मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में आपका काम से कम 55% से अंक अधिक होने चाहिए।

प्रश्न: दुनिया की सबसे बड़ी डिग्री कौन सी है?

दुनिया की सबसे बड़ी डिग्री डॉक्टर आफ फिलासफी यानी PhD है।

प्रश्न: PhD करने में कितना समय लगता है?

पीएचडी करने में 3 से 6 साल का समय लग जाता है।

प्रश्न: PhD प्रोफेसर की सैलरी कितनी होती है?

एक PhD प्रोफेसर की सैलरी ₹60000- ₹250000 प्रति महीना तक हो सकती है।

प्रश्न: पीएचडी करने के बाद कौन सी नौकरी मिलती है?

PhD करने के बाद सहायक प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर, अनुसंधान सलाहकार और अनुसंधान सलाहकार के रूप में आपकी नौकरी लग सकती है।

मेरा नाम रवि है और मैं इस ब्लॉक का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूं। मुझे एजुकेशन सेक्टर में लिखने का 6 साल का एक्सपीरियंस है। इस ब्लॉक पर में एजुकेशन, करियर और सिलेबस से संबंधित जानकारी को प्रकाशित करता हूं।

Leave a Comment