GDA Course Details in Hindi: जीडीए कोर्स की संपूर्ण जानकारी

Rate this post

यदि आप कोई नर्सिंग कोर्स करने का विचार कर रहे है तो GDA Course Details in Hindi के बारे में आपको जरुर जानना चाहिए। मेडिकल क्षेत्र में एक से बढ़कर एक डिप्लोमा और ग्रेजुएशन कोर्स है उनमें से ही एक GDA (जनरल ड्यूटी असिस्टेंट) नर्सिंग कोर्स है।

बहुत सारे विद्यार्थी का सपना मेडिकल क्षेत्र में जाने का होता है। वह विद्यार्थी D Pharmacy, ANM Nursing के अलावा जर्नल ड्यूटी असिस्टेंट के रूप में अपना कैरियर बना सकते हैं।

GDA Course Details in Hindi
GDA Course Details in Hindi

यदि आपने पहले कभी GDA Nursing Course के बारे में नहीं सुना है तो आप इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़िए क्योंकि। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको फिर कभी जीडीए नर्सिंग कोर्स के बारे में जानने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी यहां पर इस कोर्स के बारे में विस्तार से बताया गया है।

Contents

GDA Course Details in Hindi Overview

कोर्सGDA (जनरल ड्यूटी असिस्टेंट)
GDA का Full ForumGeneral Duty Assistant
कोर्स की अवधि6 से 12 महीने 
GDA की फीस₹5000 से ₹10000
जीडीए की सैलरी₹12000 से ₹20,000 महीना 
योग्यता 10वीं या 12वीं पास
आयु 18 वर्ष अधिक
नौकरी के फील्डग्रामीण स्वास्थ्य सहायक, नर्स, बाल स्वास्थ्य विकास, मेंटल हेल्थ असिस्टेंट इत्यादि

जीडीए नर्सिंग कोर्स क्या होता है | GDA Nursing Course in Hindi

जीडीए नर्सिंग कोर्स मेडिकल क्षेत्र का एक डिप्लोमा कोर्स होता है इस कोर्स को कंप्लीट करने के बाद आप एक नर्स बन जाते हैं। GDA नर्सिंग कोर्स की अवधि 6 से 12 महीने की होती है। कोई भी विद्यार्थी जिसने दसवीं पास कर रखा है वह इस कोर्स के लिए आवेदन कर सकता है।

नर्स का मुख्य काम बेसिक चिकित्सा, साफ सफाई, मरीजों की देखभाल, और दावों का उपयोग इत्यादि काम होते हैं। GDA कोर्स के दौरान आप इन सभी चीजों को डिटेल में सीखते हैं। इस कोर्स को कंप्लीट करने के बाद आप किसी भी अस्पताल में नर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं।

GDA Nursing Course में अधिकतर कार्य प्रैक्टिकल का होता है। इसलिए जब आपके थ्योरी का पोर्शन खत्म हो जाता है तब अस्पताल में ट्रेनिंग भी कराई जाती है। ट्रेनिंग कंप्लीट हो जाने के बाद इंस्टिट्यूट द्वारा जीडीए नर्सिंग कोर्स का सर्टिफिकेट मिल जाता है।

सरकारी और प्राइवेट अस्पताल में नर्स की काफी अधिक डिमांड रहती है इसलिए एक बार GDA मेडिकल कोर्स करने के बाद रोजगार के कई अफसर उत्पन्न हो जाते हैं। आप अस्पतालों, नर्सिंग होम, स्वास्थ्य संस्थान, क्लीनिक एवं अन्य मेडिकल इंस्टिट्यूट में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

GDA का फुल फॉर्म | GDA Full Form in Hindi

जीडीए का Full Form जनरल ड्यूटी असिस्टेंट होता है यह नर्सिंग का कोर्स होता है। इस कोर्स की अवधि 6 से 12 महीने के बीच होती है। जो विद्यार्थी नर्सिंग क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं उन्हें इस कोर्स को करना अनिवार्य है जीडीए का सर्टिफिकेट प्राप्त करने के बाद आप अस्पताल में नर्स का काम कर सकते हैं।

GDA Nursing Course करने के मुख्य कारण?

जीडीए नर्सिंग कोर्स करने के कई कारण है यदि आपका सवाल है कि आखिर GDA नर्सिंग कोर्स क्यों करें तो नीचे दिए गए इंपॉर्टेंट पॉइंट्स को जरूर पढ़ें। इसके बाद आपको अच्छे से आईडिया लग जाएगा कि आपके लिए GDA Nursing सही है भी कि नहीं।

  • जो विद्यार्थी नर्स बनना चाहते हैं उन्हें GDA Nursing कोर्स जरूर करना चाहिए क्योंकि इस कोर्स को करने के बाद नर्स का सर्टिफिकेट मिल जाता है। इसके बाद आप अस्पताल, नर्सिंग होम और क्लीनिक में नर्स के रूप में कार्य कर सकते हैं।

  • जो विद्यार्थी मेडिकल क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं और एक छोटा सा डिप्लोमा कोर्स ढूंढ रहे हैं उनके लिए GDA कोर्स बिल्कुल सही है।

  • नर्स के रूप में समाज सेवा करने का अच्छा अवसर मिलता है और समय के साथ मेडिकल क्षेत्र की ओर जानकारी होती रहती है जो आपके काफी काम आएगी।

  • काफी महिलाएं ऐसी होती हैं जिन्होंने दसवीं पास कर रखा होता है लेकिन उन्हें कोई रोजगार मिलता है वह GDA कोर्स करके नर्स बन सकती है।

GDA Nursing Course कितने साल का होता है?

जर्नल ड्यूटी असिस्टेंट नर्सिंग कोर्स 6 से 12 महीने की होती है यदि आप केवल थ्योरी पढ़ते हैं। तो यह कोर्स 6 महीने के अंदर भी खत्म हो सकता है। लेकिन यदि आप प्रैक्टिकल कार्य भी सीखना चाहते हैं तो 6 महीने का समय और आपको देना पड़ेगा।

इस कोर्स को करने के बाद मरीज को दवाई कैसे देनी है, रोगियों को कैसे संभालना है, दवाइयां का उपयोग, साफ सफाई जैसी मेडिकल की बुनियादी चीज आपको आ जाएगी जिसके बाद नर्सिंग सेक्टर में अपना कैरियर बना सकते हैं।

General Duty Assistant बनने की योग्यता?

जनरल ड्यूटी असिस्टेंट अर्थात जीडीए कोर्स करने के लिए योग्यता निम्नलिखित होनी चाहिए:-

  • GDA Nursing Course करने के लिए आपकी आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • जीडीए कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आप 10वीं पास होने चाहिए।
  • केवल भारत का स्थाई नागरिक ही GDA Nursing में एडमिशन ले सकता है।

जीडीए नर्सिंग कोर्स में एडमिशन प्रोसेस | GDA Course Mai Admission Kaise Le

यदि आप जनरल ड्यूटी असिस्टेंट कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो नीचे बताए गए सभी प्रक्रिया को स्टेप बाय स्टेप फॉलो करें। इसके बाद आप बिना किसी दिक्कत के इस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं:-

  • जीडीए कोर्स में एडमिशन लेने से पहले आप सबसे पहले यह देखें कि आपके आसपास के किस कॉलेज में यह कोर्स करवाया जाता है।
  • अपने लोकेशन और फीस के अनुसार एक सही कॉलेज का चयन कीजिए।
  • कॉलेज का चुनाव करने के बाद जीडीए नर्सिंग कोर्स का एडमिशन फॉर्म लीजिए और उसे फॉर्म को सही-सही भरिए।
  • आप जिस कॉलेज से जीडीए नर्सिंग कोर्स करना चाहते हैं उसे कॉलेज का नाम बिल्कुल सही से भरना है।
  • आप चाहे तो यह रजिस्ट्रेशन फॉर्म उसे कॉलेज के ऑफिशल पोर्टल पर जाकर भी भर सकते हैं
  • रजिस्ट्रेशन फॉर्म में अपनी व्यक्तिगत जानकारी, कोर्स का नाम, शैक्षणि के योग्यता, पहचान पत्र इत्यादि सभी जानकारी सही से भरें।
  • इसके बाद जरूरी दस्तावेज की फोटो कॉपी करवा कर अपने रजिस्ट्रेशन फॉर्म में अटैच कीजिए और कॉलेज में जाकर जमा कर दीजिए।
  • रजिस्ट्रेशन फॉर्म जमा करने के बाद कॉलेज द्वारा मेरिट लिस्ट निर्धारित की जाएगी आपको इस लिस्ट में अपना नाम चेक करना है।
  • यदि आपका नाम कॉलेज की मेरिट लिस्ट में है तो कोर्स की फीस जमा कर देनी है
  • इस प्रकार जीडीए नर्सिंग कोर्स में एडमिशन एडमिशन ले सकते हैं।

जनरल ड्यूटी असिस्टेंट कोर्स की फीस | GDA Nursing Course Fees in Hindi

D Pharmacy और ANM Nursing कोर्स के मुकाबले जर्नल ड्यूटी असिस्टेंट कोर्स की फीस काफी कम है। यदि आप GDA Nursing Course करना चाहते हैं तो ₹5000 से ₹10000 होने चाहिए।

लेकिन जिन विद्यार्थियों के पास इतने भी पैसे नहीं है उनके लिए प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के तहत जीडीए नर्सिंग कोर्स बिल्कुल फ्री में कर सकते हैं केवल आपको कोर्स का रजिस्ट्रेशन फीस देना है।

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का लाभ उठाने के लिए योजना की ऑफिशल वेबसाइट पर जाइए और GDA नर्सिंग में आवेदन कर दीजिए इसके बाद सरकार द्वारा इस कोर्स का खर्चा उठाया जाएगा।

GDA नर्सिंग कोर्स का सिलेबस | GDA Nursing Course Syllabus in Hindi

जीडीए नर्सिंग कोर्स एक छोटा सा डिप्लोमा कोर्स होता है। इसलिए इस कोर्स के दौरान आपको कोई मोटी-मोटी किताबें नहीं पढ़नी है GDA Nursing Course Syllabus in Hindi के बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है। यह सिलेबस उन लोगों के लिए बहुत उपयोगी होगा जो वास्तव में जर्नल ड्यूटी असिस्टेंट कोर्स करना चाहते हैं।

  • रोगों की पहचान और इलाज
  • दवाओं का उपयोग
  • प्राथमिक चिकित्सा की बुनियादी ज्ञान
  • खाद्य संबंधी सहायता और पोषण
  • स्वास्थ्य शिक्षा और जागरूकता
  • संगठनात्मक और प्रशासनिक कौशल
  • सूचना प्रबंधन और रिकॉर्ड केपिंग
  • आपातकालीन देखभाल और राहत

GDA Nursing Course में पास होने के लिए ही है सभी विषय बहुत उपयोगी हैं। इसलिए यदि आप 6 महीने के अंदर इस कोर्स को पास करना चाहते हैं तो इन सभी विषयों को ध्यान से पढ़ें इसके बाद आप बड़ी आसानी से GDA नर्सिंग कोर्स का सिलेबस खत्म कर लेंगे।

GDA नर्सिंग कोर्स में क्या-क्या पढ़ना पड़ेगा?

जीडीए कोर्स के दौरान आपको क्या-क्या पढ़ना पड़ेगा इसकी डिटेल में जानकारी कुछ इस प्रकार है। यदि आप इन सभी विषयों को पढ़ लेते हैं तो जीडीए कोर्स में आपके काफी अच्छे नंबर आएंगे।

  • नर्सिंग फंडामेंटल्स
  • मेडिकल टर्मिनोलॉजी
  • एनाटोमी एंड फिजियोलॉजी
  • पेशेंट हाइजीन एंड सेफ्टी
  • इंफेक्शन कंट्रोल
  • बेसिक नर्सिंग प्रक्रियाओं
  • प्राथमिक चिकित्सा और सीपीआर
  • फार्माकोलॉजी
  • न्यूट्रिशन एंड डायटेटिक्स
  • पेशेंट कम्युनिकेशन एंड इंटरपर्सनल स्किल्स
  • मेडिकल एथिक्स
  • लीगल इश्यूज
  • नर्सिंग के कानूनी मुद्दे

जीडीए कोर्स करने के फायदे | GDA Course Karne ke Fayde

काफी विद्यार्थी ऐसे होते हैं जो नर्सिंग क्षेत्र में जाना तो जाते हैं लेकिन उन्हें General Duty Assistant in Hindi कोर्स के बारे में जानकारी नहीं होती है। यदि आप नर्स बनना चाहते हैं तो GDA Nursing Course Karne ke Fayde के बारे में आपको जरूर जानना चाहिए।

GDA Nursing Course Karne ke Fayde

इस कोर्स को करने के फायदे जानने के बाद आप सही निर्णय ले पाएंगे कि आखिर आपको नर्सिंग क्षेत्र में जाना चाहिए कि नहीं..

  • GDA Course करने के बाद आपको नर्सिंग का सर्टिफिकेट मिल जाता है जिसके बाद सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल में बड़ी आसानी से नर्स का काम मिल जाता है।
  • इस कोर्स के दौरान स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र का विशेष ज्ञान दिया जाता है जिसके बाद रोजगार के कई मौके मिलते हैं।
  • GDA Course के दौरान 6 महीने का प्रैक्टिकल सिखाया जाता है जिसमें नर्सिंग क्षेत्र का व्यापक ज्ञान मिलता है। मरीजों की देखभाल, दवाइयां का उपयोग जैसे सभी महत्वपूर्ण ज्ञान सीखने को मिलता है।
  • जनरल ड्यूटी असिस्टेंट कोर्स करने के बाद आपको साफ सफाई का महत्व पता चलेगा जो आपके व्यक्तिगत काम भी आएगा।
  • नर्सिंग का क्षेत्र समाज सेवा का होता है जिससे नर्स के रूप में आपको लोगों की सेवा करने का भी मौका मिलेगा।
  • GDA नर्सिंग कोर्स करने के बाद आप मरीजों की पहचान और उनको हैंडल कैसे करना है इसके बारे में अच्छे से सीख जाएंगे।

General Duty Assistant Course के लिए बेस्ट कॉलेज

जनरल ड्यूटी असिस्टेंट कोर्स भले ही आपको छोटा सा एक नर्सिंग कोर्स लगे। लेकिन यदि आप इसे किसी बेहतरीन कॉलेज से करते हैं तो आपकी पोस्टिंग किसी बढ़िया हॉस्पिटल में हो सकती है। जिसके बाद आपका भविष्य काफी बेहतर हो सकता है।

GDA Nursing Course करने के लिए बेस्ट कॉलेज निम्नलिखित है:-

S.NOइंस्टिट्यूट
1.एलीगोबा नर्सिंग कॉलेज, दिल्ली
2.आल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेस, दिल्ली
3.अमृता स्कूल ऑफ़ नर्सिंग, कोची
4.आईसीएनआर आईएचएनएस, न्यू दिल्ली
5.अयोड्या इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेस, जयपुर
6.लवली मेडिकल कॉलेज, बंगलौर
7.श्री शंकराचार्य कॉलेज ऑफ नर्सिंग
8.भारतीय विद्यापीठ कॉलेज ऑफ नर्सिंग
9.दिल्ली पैरामेडिकल एंड मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट
10.आईसीएनआर आईएचएनएस, कोलकाता

जनरल ड्यूटी असिस्टेंट कोर्स के बाद करियर ऑप्शन?

आप में से काफी लोगों का यह सवाल होगा कि आखिर हम जनरल ड्यूटी असिस्टेंट (GDA) कोर्स कर तो लेंगे लेकिन फिर उसके बाद करियर के विकल्प कौन-कौन से होंगे।

तो चलिए मैं आपको बता ही देता हूं कि जनरल ड्यूटी असिस्टेंट कोर्स करने के बाद कौन-कौन सी जगह नौकरी कर सकते हैं।

GDA Course Details in Hindi

  • नर्सिंग होम्स और आयुर्वेदिक संस्थानों
  • स्वास्थ्य क्लिनिकों में सहायक नर्स
  • अस्पतालों में असिस्टेंट
  • सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में सहायक नर्स
  • रोगी देखभाल केंद्रों और वृद्धाश्रमों में नर्सिंग असिस्टेंट
  • प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में स्वास्थ्य कार्यकर्ता

इसके अलावा और भी कई क्षेत्र हैं जहां जनरल ड्यूटी असिस्टेंट के पद पर पोस्टिंग होती है। इस फील्ड में यदि आप दो से तीन साल का एक्सपीरियंस प्राप्त कर लेते हैं तो आपकी सैलरी से ₹25000 से ₹30000 बढ़कर हो जाएगी।

जीडीए की सैलरी कितनी होती है | GDA ki Salary Kitni Hoti hai

जनरल ड्यूटी असिस्टेंट के रूप में आपकी सैलरी कितनी होगी यह आपके अनुभव, कार्यक्षेत्र, व्यक्तिगत संबंध इसके अलावा और भी चीजों पर निर्भर करती है।

लेकिन शुरुआती सैलरी की बात करें तो GDA Nursing Course करने के बाद नर्स के रूप में ₹10000 से ₹15000 प्रति महीना कमा सकते हैं। इसके बाद धीरे-धीरे आपके एक्सपीरियंस के साथ आपकी सैलरी भी जरूर बढ़ेगी।

निष्कर्ष

दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से हम GDA Course Details in Hindi के बारे में विस्तार से बताया है। मुझे उम्मीद है कि इस पोस्ट के माध्यम से आपको जर्नल ड्यूटी असिस्टेंट कोर्स के बारे में डिटेल में पढ़ा जाता है।

दिन प्रतिदिन नर्सिंग का क्षेत्र और बड़ा होता जा रहा है अस्पतालों, नर्सिंग होम, स्वास्थ्य केंद्र, आयुष्मान भारत सेवा संघ, क्लीनिक में नर्स की डिमांड काफी अधिक है। इसलिए इस कोर्स को करने के बाद आपको नौकरी करने के कई अवसर मिलेंगे।

यदि आपका इस पोस्ट से संबंधित कोई भी प्रश्न हो तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं और इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिए, धन्यवाद!

GDA Course Details in Hindi से जुड़े प्रश्न: FAQs

प्रश्न: GDA की सैलरी कितनी है?

जीडीए की शुरुआती सैलरी ₹10000 से ₹15000 प्रति महीना होती है इसके बाद जैसे-जैसे जनरल ड्यूटी असिस्टेंट का एक्सपीरियंस बढ़ता है तो उनकी सैलरी भी बढ़कर ₹20000 प्रति महीना हो जाती है।

प्रश्न: जीडीए कोर्स में क्या सिखाया जाता है?

जीडीए कोर्स में स्वास्थ्य देखभाल, रोग पहचान, औषधियों का उपयोग, पोषण, स्वच्छता नियम, सामान्य नर्सिंग कौशल, रिकॉर्ड केपिंग, संचार और संगठनात्मक कौशल इत्यादि कार्य सिखाया जाता है।

प्रश्न: हॉस्पिटल में जीडीए का क्या काम होता है?

अस्पताल में यूरिया का जीडीए का काम मरीजों की देखभाल, बातचीत करना, मरीजो को दवाइयां देना, साफ-सफाई का ध्यान रखना होता है।

प्रश्न: जीडीए कोर्स के बाद मैं क्या कर सकता हूं?

जीडीए के बाद आप अस्पताल या नर्सिंग होम में नर्स का कार्य कर सकते हैं।

प्रश्न: जीडीए का पूरा नाम क्या है?

जीडीए का पूरा नाम जर्नल ड्यूटी असिस्टेंट होता है।

मेरा नाम रवि है और मैं इस ब्लॉक का फाउंडर और कंटेंट राइटर हूं। मुझे एजुकेशन सेक्टर में लिखने का 6 साल का एक्सपीरियंस है। इस ब्लॉक पर में एजुकेशन, करियर और सिलेबस से संबंधित जानकारी को प्रकाशित करता हूं।

Leave a Comment